HOW TO BECOME A SOFTWARE ENGINEER

HOW TO BECOME A SOFTWARE ENGINEER | सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने? in hindi

Software Engineer बनने के लिए आपको 10वीं के बाद क्या करना पड़ता है?

Join Telegram

हेलो दोस्तों, अगर आप दसवीं के बाद “सॉफ्टवेयर इंजीनियर” कैसे बने सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर आए हैं। आज हम आपको बताएंगे कि दसवीं के बाद आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स कैसे कर सकते हैं?इसके लिए क्या-क्या पात्रता और योग्यता जरूरी होती है?
आजकल आप सभी के पास मोबाइल, फोन, लैपटॉप व कंप्यूटर आदि सभी चीजें उपलब्ध होती हैं, पर क्या आपको पता है की यह चीजें सॉफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा ही बनाई जाती हैं इनके द्वारा ही इन्हें डिजाइन किया जाता है। आपको पता है कंप्यूटर का महत्वपूर्ण हिस्सा सॉफ्टवेयर होता है। सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर का अधिकांश हिस्सा बेकार ही होता है। अब आप जान ही गए होंगे कि सॉफ्टवेयर हमारे लिए कितना जरूरी होता है। सभी एप्लीकेशन को बनाने का पूरा कार्य एक “सॉफ्टवेयर इंजीनियर” ही कर सकता है। अगर आपका भी सपना सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने का है तो आप दसवीं के बाद भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। आइए जानते हैं दसवीं के बाद आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने?

HOW TO BECOME A SOFTWARE ENGINEER

Software Engineer कितने प्रकार के होते हैं?

आप सभी को बता दें कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर दो प्रकार के होते हैं जो निम्न है –

1- Junior Software Engineer

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

2 – Senior Software Engineer

1 :- JUNIOR SOFTWARE ENGINEER
सबसे पहले आज हम बात करते हैं जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर की। अगर आप जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आप को 10वीं पास होना अनिवार्य है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए अगर आप दसवीं पास है या फिर दसवीं का एग्जाम देने वाले हैं तो आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं।

अगर आप जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपको पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स करना अनिवार्य है। इसके लिए आप 10वीं परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद अपने स्टेट को सेलेक्ट करके फॉर्म भर सकते हैं। पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स की अवधि 3 साल की होती है। और यह कोर्स आप दसवीं के बाद आसानी से कर सकते हैं। इस कोर्स को अप्लाई करने के लिए आपको एडमिशन प्रोसेस यानी कि पहले “एंट्रेंस एग्जाम” देना होगा। एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे नंबर व अच्छी रैंक लाने के बाद ही आपको गवर्नमेंट कॉलेज “पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स” के लिए एडमिशन मिल सकता है। अच्छी रैंक लाने के बाद गवर्नमेंट कॉलेज की बात करें तो गवर्नमेंट कॉलेज में इस कोर्स की फीस बहुत कम लगती है, इसलिए कोशिश करें कि आप अच्छे से अच्छे नंबर अच्छी से अच्छी रैंक ला सकें। उसके बाद आप “पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स” कंप्लीट कर लेंगे। फिर आपको 3 साल तक इस कोर्स को सीखना होगा। “कंप्यूटर साइंस सब्जेक्ट” से “पॉलिटेक्निक कोर्स” करने के बाद आप एक “Junior Software Engineer” कहलाएंगे।

2 :- Senior Software Engineer
अगर आप दसवीं के बाद सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो यह आपके लिए मुश्किल है क्योंकि दसवीं के बाद सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर आप नहीं बन सकते हैं। सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपकी योग्यता 12वीं पास होनी चाहिए। अगर आप 12वीं पास नहीं है तो आपके पास पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स होना अनिवार्य है। यदि आपके पास इन दोनों में से कोई भी ऑप्शन नहीं है तो आप सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर नहीं बन सकते हैं।
अगर आप 12वीं के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपके पास यह सब्जेक्ट होने बहुत ही जरूरी हैं इन सब्जेक्ट के बिना आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में अप्लाई नहीं कर सकते हैं। सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपके पास 12वीं में साइंस के साथ (PCM) फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स सब्जेक्ट होने बहुत जरूरी है। अगर 12वीं कक्षा में यह सब्जेक्ट नहीं है तो आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर नहीं बन सकते हैं।
12वीं कक्षा में (PCM) सब्जेक्ट के साथ आप अच्छे नंबरों से पास होना भी बहुत जरूर है। 12वीं क्लास कंप्लीट करने के बाद अब आप “बीटेक कोर्स” के लिए एंट्रेंस एग्जाम में अप्लाई कर सकते हैं। अब इंट्रेंस एग्जाम में अच्छे नंबर अच्छे अंक लाने के बाद आपको एक बहुत अच्छे “गवर्नमेंट कॉलेज” में आपको एडमिशन मिल सकता है। “सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर” बनने के लिए “बीटेक कोर्स” में अप्लाई करने के बाद आपको 4 साल तक पढ़ाई करनी है। “बीटेक कोर्स” में 4 साल पढ़ाई करने के बाद आप एक “सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर” बन जाएंगे।

12वीं कक्षा में (PCM) सब्जेक्ट के साथ आप अच्छे नंबरों से पास होना भी बहुत जरूर है। 12वीं क्लास कंप्लीट करने के बाद अब आप “बीटेक कोर्स” के लिए एंट्रेंस एग्जाम में अप्लाई कर सकते हैं। अब इंट्रेंस एग्जाम में अच्छे नंबर अच्छे अंक लाने के बाद आपको एक बहुत अच्छे “गवर्नमेंट कॉलेज” में आपको एडमिशन मिल सकता है। “सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर” बनने के लिए “बीटेक कोर्स” में अप्लाई करने के बाद आपको 4 साल तक पढ़ाई करनी है। “बीटेक कोर्स” में 4 साल पढ़ाई करने के बाद आप एक “सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर” बन जाएंगे।

इसे भी पढ़े-1👉👉 CLICK HERE
इसे भी पढ़े-2👉👉 CLICK HERE
इसे भी पढ़े-3👉👉 CLICK HERE

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *